कोराना से जंग, अगर इस नंबर से आये फोन तो काट मत देना, जो पूछा जायें उसका सही जवाब देना

कोराना से जंग, अगर इस नंबर से आये फोन तो काट मत देना, जो पूछा जायें उसका सही जवाब देना अगर आये 1921 से कोल तो उसे काटना नहीं लेकिन उठाकर उन्हें आवश्यक सभी जवाब दे। आपकी और देश की भलाई इसी में है।

पूरा संसार इस वक्त कोरोना की वैश्विक महामारी से झुज रहा है। जिसमे हमारा भारत भी विरक्त नही रहा है। पिछले एक सप्ताह में पुरे भारत में कोरोना पोजिटिव दर्दीओ की संख्या में जिस तरह से बढ़ावा आ रहा है वह अत्यंत चिंताजनक है। भारत सरकार निरंतर अपनी तरह से इस महामारी को रोकने में कटिबद्ध है।

image source

भारत सरकार के आरोग्य मंत्रालय ने कोरोना महामारी अंतर्गत देश भर में एक टेलीफोनिक सेवा को सुचारू रूप से शुरू किया है। इस सर्विस का हेतु कोरोना वायरस के सक्रमण का सर्वे करना है। इस सर्विस में आप को 1921 नंबर से कोल किया जायेगा जिन में आपको पूछा जायेगा की आपकी तबियत कैसी है ? आपको बुखार या शर्दी तो नहीं है ना ? आपको कोरोना से सबंधित कोई लक्षण है या नहीं ? आपको मदद की आवश्यकता है या नहीं ?

सरकार की और से 1921 नंबर से फोन आने के बाद आपके स्वास्थ्य सबंधी जानकारी को एकत्र किया जायेगा। उसके बाद आपका नाम और पता पूछा जायेगा। इस के अलावा अगर आपने विदेश यात्रा की हो तो उस बारे में भी जानकारी एकत्र की जाएगी। साथ ही आपको यह भी पूछा जायेगा की आपके परिवार में या फिर आसपास के किसी रिश्तेदारों में कोई कोरोना से संक्रमित तो नहीं हुआ है ना ? सारी जानकारी एकत्र करने के बाद कोरोना से लड़ने के लिए सरकार को सहाय मिलेगी। इस प्रकार के कई सवाल पूछे जा शकते है।

यह टेलीफोनिक सर्वे फिलहाल भारत के साभी राज्यों में शुरू किया गया है। गुजरात में भी इस सर्वे के चलते गुजरात के नागरिको को भी 1921 नंबर से कोल आ शकता है। इसलिए कृपया अनजान नंबर समज कर उसे कट न करें। लोगो के स्वास्थ्य के लिए आरोग्य मंत्रालय का यह प्रयास प्रसंशनीय है।

image source

आप कोई भी मोबाईल सर्विस उपयोग कर रहे हो, आपको 1921 पर से कोल आ शकता है। यह देशव्यापी सर्वेक्षण है। जिसमे जो सवाल पूछे जायेंगे उनका उचित प्रकार से आप जवाब देंगे, यह भारत सरकार की एक बिनती है जिसके कारन कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा शकता है।

इस नंबर से सामान्य प्रकार से आपको कोरोना से सबंधित कुछ सवाल पूछे जायेंगे। कई बार आने वाले कुछ फेक कोल के कारन मोबाईल उपभोक्ता नए नंबर से आने वाले कोल को रिसीव नहीं करते। लेकिन यह पढने के बाद आप जब भी 1921 नंबर से आपको कोल आये तो यह नंबर ध्यान से देखकर फोन जरुर उठायें।

भारत सरकार के आरोग्य मंत्रालय ने राज्य सरकारों को भी यह निर्देश दिया की है की इस 1921 सर्वे नंबर का प्रचार अपने राज्य में करे जिससे की राज्यों में कोरोना पोजिटिव आंकड़ो को आगे बढ़ने से रोका जा शके। इस नंबर के बारे में राज्य सरकार द्वारा संचालित सभी प्रमुख वेबसाईट पर माहिती प्रसारित करने का आदेश भी केन्द्रीय मंत्रालय द्वारा दिया गया है।

image source

उल्लेखनीय है की, देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के केस में प्रतिदिन बढ़ते जा रहे है। देश में संपूर्णत लोकडाउन होने के बावजूद रोज नये नये केस सामने आते जा रहे है। अब तक भारत में २०००० से ज्यादा केस सामने आ चुके है। जिसमे से ३८७० लोग स्वस्थ हो चुके है और ६४० जैसे लोग अपनी जान खो चुके है।

अगर भारत सरकार हमारे लिए इतना उत्तम कार्य कर रही है तो यह कर्तव्य हमरा भी बन जाता है की हम उन्हें पूरी तरह से साथ और सहयोग दें। तभी हमारा देश जितना हो शके जल्द से जल्द कोरोना से मुक्त राष्ट्र बन शकेगा।

जय हिंद