क्या आप कर्म और उसके फल पर विश्वास नहीं करते तो पढे यह घटना यह आपको आपकी सोच बदल ने पर मजबूर कर देगी

1 : – जब एक व्यक्ति ने रक्तदान किया और 2 मिलियन बच्चों को बचाया

जेम्स हैरिसन जब वह 14 साल का तब वह मरने की कगार पर था क्योकि उसने कई सीने के ऑपरेशन करवाए थे चिकित्सकों ने उसके दोनों फेफड़ों में से एक फेफड़े को निकाल दिया था और इस प्रक्रिया में जेम्स का 2 लीटर खून बह चुका थाऔर यह 2 लीटर रक्त विभिन्न लोगों के रक्तदान के माध्यम से वापिस जेम्स के शरीर मे दाखिल किया गया था , लेकिन जेम्स इस बात से अनजान था जेम्स की जान सिर्फ रक्तदान के कारण ही बची थी इसीलिए हैरिसन ने सोचा कि मैं किसी को रक्त दान करना चाहता हूं।

18 वर्ष की आयु में हैरिसन रक्त दान करने के पात्र हो गए थे , जेम्स ने पहली बार अपने 18 वें वर्ष में प्रवेश करते ही अपने जन्मदिन पर रक्तदान किया। जेम्स के रक्तदान के बाद, डॉक्टरों को जेम्स के रक्त में कुछ अनोखा मिला। उनके शरीर में कुछ ऐसे तत्व मौजूद थे, जो रीसस नामक बीमारी के इलाज के लिए आवश्यक थे। यह एक रोग था जिसमें विकृत दिमाग वाले बच्चे पेदा होते थे या तो मरे हुए बच्चे जनमते थे इसलिए डॉक्टरों ने जेम्स से अनुरोध किया कि क्या आप नियमित रूप से रक्तदान कर सकते हैं ? ताकि हम इस बीमारी के उपचार के बारे में अधिक अभ्यास कर सकें जेम्सने नियमित रक्तदान करने के लिए खुशी खुशी हा करदी और आज भी जेम्स का खून छोटे बच्चों के लिए दवा की तरह काम करता है

न केवल जेम्स ने अजनबियों के छोटे बच्चों की मदद की बल्कि उनकी बेटी की संतान को भी बीमारी होने की संभावना थी ये तब की बात जब जेम्स की खुदकी बेटी गर्भवती थी, तो उन्होंने अपनी बेटी के लिए भी रक्तदान किया।

और इस वजह से जेम्स एक स्वस्थ बच्चे के दादा बन गए, आज जेम्स 70 साल के हैं और 70 साल के होने के बावजूद जेम्स ने कभी भी नियमित रक्तदान करना नही टाला और अब तक जेम्स ने दो मिलियन बच्चों को बचाया है।

2: – एक आदमी को एक लड़के ने बचाया था जिस लड़के को 9 साल पहले उसकी पत्नी ने बचाया था

जब रोजर लोज़ियर चार साल का था, तो वह अपनी माँ से दूर समुद्र तट पर भटक रहा था। यह समय था 1965 था वह धीरे-धीरे पानी की ओर बढ़ता जा रहा था और पानी मे तैरने की कोशिश कर रहा था, लेकिन अचानक। लहरों ने उसे अंदर खींच लिया वह मर चुका होता लेकिन अचानक ऐलिस ब्लेज़ नामक एक अजनबी ने पानी मे कूदकर इस लड़के को बचाया था 9 साल बाद यह 13 साल का लड़का उसी बीच पर बोटिंग कर रहा था जब उसने अचानक एक महिला को चिल्लाते हुए सुना कि मेरा पति डूब रहा है, कोई उसे बचाओ इस लड़के का नाम रोजर था।

वह पहचान नहीं सका था रोजर तुरंत ही अपनी पैडल बोट से डूबने वाले व्यक्ति के पास पहुंचा और उसे अपनी पैडल बोट पर खींच लिया और वहां खड़े किसी भी व्यक्ति को मालूम नहीं था यह लड़का कोन था लेकिन जब अगले दिन जब समाचार पत्र में नाम और समय के साथ पूरी घटना छपी तो ऐलिस को पता चला कि वह युवक और कोई नहीं बल्कि जब वह 4 साल का था तब उसीने उसे 9 साल पहले बचाया था।

3: – एक आदमी केवल रक्तदान करके से घातक बीमारी से बच गया

जिम बेकर ने अपने जीवन मे रक्त दान करने का निर्णय लिया था लेकिन जिम के रक्तदान के पीछे कोई अच्छा या नेक इरादा नहीं था।
ग्रीन बे पैकर्स नामक एक फुटबॉल टिम का बहोत बड़ा फेन था लेकिन वह फुटबॉल मैचों के लिए टिकट नहीं खरीद सकता था, इसलिए उसने अपने रक्त को बेच कर पैसा कमाना शुरू कर दिया वह जब चाहे तब रक्तदान करता था और अपने रक्तको बेचकर वह अपनी पसंदीदा टीम के मैच का टिकट खरीद सकता था । लेकिन अब बात में ट्विस्ट यह है कि 20 साल तक लगातार रक्तदान करने के बाद उसे पता चलता है कि वह एक घातक बीमारी से पीड़ित था। जिस बीमारी का नाम हेमोक्रोमैटोसिस था।

यह बीमारी जानलेवा थी और इसका सिर्फ एक ही उपाय था रक्तदान करना था। जिम खुद अनजाने में नियमित रूप से रक्त दान करके अपनी घातक बीमारी का इलाज कर रहा था, लेकिन जब जिम को बीमारी के बारे में पता चला, तो उसे डॉक्टरों के पास जाना पड़ा और उसने दोक्टरों की सलाह से इस बीमारी का इलाज करना चालू किया जिम के दोनों हाथों ही हाथो मे लड्डू था क्योंकि जिम रक्तदान करके उसकी खुदकी जान बचा रहा था और दूसरी तरफ वह अपने शौख को भी पूरा कर रहा था। और उन्न सबसे बड़ी बात तो यह थी की 20 साल के नियमित रक्तदान से जीम ने कई लोगों की जान बचाई थी

4: – एक आदमी हार्ट अटेक से बच गया क्योंकि उसने एक अजनबी की मदद की थीं

विक्टर ग्रोसब्रैच और उसकी पत्नी एन एकबार कारमे कई जा रहे थे तभी विकटर ने दो महिलाओको एक बंद कार के पास खड़ा हुआ पाया वो दोनों महिला काफी प्रोब्लेम मे थी की कार का टायर कैसे बदला जाए विक्टर एक अनुभवी मैकेनिक था, उसने अपनी कार खड़ी करके उस दो अज्ञात महिलाओं की मदद की और इन दोनों महिलाओं ने भी विक्टर का तहे दिलसे आभार माना और वह दो महिला अपने रास्ते पर चल पड़ी कुछ साल बाद विक्टर और उसकी पत्नी ऐन जब एक बार ट्रक चलाकर कही जा रहे थे और अचानक विकटरने सड़क के किनारे अपने ट्रक को रोक दिया जब दो महिलाओं ने कार चलाते हुए पूरी घटना को देखा।

तो उसने भी अपनी कार ट्रक के पीछे रोकी और जेसे ही वह महिला बाहर निकली तो तुरंत विक्टर की पत्नी ने चिल्लाना शुरू कर दिया कि उसके पति को दिल का दौरा पड़ा है प्लीज़ कोई हमारी मदद करो यह दो महिलाए और कोई नही बल्कि वही थी जिसकी मदद कुछ साल पहले विकटरने कार का टायर बदल कर की थी उनमे से एक महिला ने विक्टर को मुह के जरिये सास देने की कोशिश की और दूसरी महिला ने एमरजनसी नंबर 911 पर कॉल किया थोड़ी देर बाद मेडिकल विभाग की टिम वहा पहोच गयी और विक्टर की जान बचा ली गयी थी आज विक्टर शायद जिंदा न होता अगर विक्टर ने कुछ सालो पहले अगर उन दोनों अंजान महिलाओ की मदद नही की होती